उन्नाव के बाद फतेहपुर में बेटी को जिंदा जलाया, प्रियंका बोलीं- प्रधानमंत्री, अपना मौनव्रत कब तोड़ेंगे?

0

Hits: 5

उत्तर प्रदेश में बेटियों के साथ दरिंदगी की वारदातें थमने का नाम ही नहीं ले रहीं। अब फतेहपुर (Fatehpur rape case) में उन्नाव (Unnao) की तर्ज़ पर एक युवती के साथ पहले बलात्कार किया गया और फिर उसे ज़िंदा जलाने की कोशिश की गई। इस वारदात को उस वक्त अंजाम दिया गया जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बगल के ज़िले कानपुर में एक कार्यक्रम में मौजूद थे।

मामला ज़िले के हुसैनगंज इलाके का है। बताया जा रहा है कि शुक्रवार की रात पड़ोस में रहने वाले चाचा ने पहले युवती के साथ बलात्कार किया। बलात्कार के बारे में जब पीड़िता के परिजनों को पता चला तो वह शनिवार की सुबह पीड़िता को लेकर मामले की शिकायत दर्ज कराने थाने जाने लगे।

लेकिन वह थाने जा पाते उससे पहले ही आरोपी चाचा ने उनपर हमला बोल दिया और पीड़िता पर मिट्टी का तेल डालकर उसे ज़िंदा जला दिया।

हालांकि थोड़ी देर बाद किसी तरह आग को बुझाया गया। जिसके बाद पीड़िता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। बताया जा रहा है कि इस हमले में पीड़िता तकरीबन 90 फीसदी जल गई है और उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। पीड़िता की हालत को देखते हुए उसे कानपुर के हैलट अस्पताल रेफर किया गया है।

इस मामले पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर तीखा हमला करते हुए लिखा- आज प्रधानमंत्री यूपी में थे। आशा है कि महिलाओं की सुरक्षा व्यवस्था और यूपी में महिलाओं के खिलाफ हो रहे जघन्य अपराधों पर अपना मौनव्रत तोड़ देंगे। उप्र की भाजपा सरकार तो बेशर्म हो चुकी है। कानून व्यवस्था उसके बस के बाहर की बात है।

हैरानी की बात तो ये है कि पीड़िता के साथ हैवानियत की इस वारदात को उस वक्त अंजाम दिया गया जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बगल के ज़िले कानपुर में नमामि गंगे कार्यक्रम की एक बैठक में शिरकत करने पहुंचे थे। वह कानपुर में गंगा को साफ़ किए जाने पर विचार कर रहे थे और फतेहपुर में एक बेटी को ज़िंदा जलाया जा रहा था।