उन्नाव रेप केस: जिंदा जलाई गई थी लड़की, पुलिस की चार्जशीट में हत्या का जिक्र नहीं

0

Hits: 6

5 दिसंबर के दिन उन्नाव में एक रेप विक्टिम को जला दिया गया था. इलाज के दौरान दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उसकी मौत हो गई. वो रेप मामले की सुनवाई में ही शामिल होने के लिए रायबरेली जा रही थी, लेकिन उसे पहुंचने ही नहीं दिया गया. लड़की ने इस साल मार्च में रायबरेली के लालगंज पुलिस स्टेशन में गैंगरेप की शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायत में बताया था कि उन्नाव के रहने वाले शिवम त्रिवेदी और शुभम त्रिवेदी ने उसका गैंगरेप किया था.

यानी रेप की घटना एक साल पुरानी है. लेकिन अब जाकर इस मामले में चार्जशीट दाखिल हुई. लड़की की मौत के तीन दिन बाद, 11 दिसंबर के दिन रायबरेली पुलिस ने कोर्ट को चार्जशीट सौंपी. इसमें शुभम और शिवम के ऊपर रेप, सबूत मिटाने और धमकी देने के आरोप तय किए गए. चार्जशीट में लड़की की हत्या का जिक्र नहीं है.

इसके पीछे पुलिस ने ये कारण बताया कि लड़की की घटना की FIR रायबरेली में दर्ज की गई थी. तब लड़की ज़िंदा थी. इसलिए पुलिस ने गैंगरेप मामले में चार्जशीट फाइल की. जलाने की घटना उन्नाव ज़िले की है.

चार्जशीट में और क्या कहा गया?

ये कि शिवम पिछले साल लड़की को उन्नाव से रायबरेली लेकर आया था. शादी करने के बहाने से. लेकिन उसने शादी नहीं की, उल्टा उसका रेप करता रहा. उसने लड़की को रायबरेली में एक किराए के कमरे में रखा था. सबके सामने वो उसे अपनी पत्नी बताता था. लड़की ने जब शिवम की हरकतों का विरोध किया तब वो 12 दिसंबर 2018 के दिन अपने चचेरे भाई शुभम को लेकर आ गया. फिर दोनों ने लड़की का गैंगरेप किया.

लड़की के घरवालों ने शिवम और उसके परिवार वालों से शादी करने को कहा, लेकिन उन्होंने प्रपोजल ठुकरा दिया. फिर लड़की ने रायबरेली के लालगंज थाने में गैंगरेप की शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने अपनी जांच में इलेक्ट्रॉनिक सबूतों के आधार बनाया. मोबाइल फोन की लोकेशन और मौजदूगी की जांच की.

रेप विक्टिम के परिवार का धरना

लड़की के घरवाले उसकी कब्र के पास धरना दे रहे हैं. उनका कहना है कि सरकार अगर आरोपियों को फांसी पर लटकाने का वादा पूरा करने में नाकाम होती है, तो वो लड़की के शव को कब्र से निकालकर लखनऊ ले जाएंगे. 11 दिसंबर से ही लड़की का परिवार धरने पर बैठ गया है. इसके पहले भी परिवार ने कब्र के ऊपर सीमेंट का स्ट्रक्चर बनाने से जिला प्रशासन को रोक दिया था.

गैंगरेप के मुख्य आरोपी शिवम और शुभम इस वक्त पुलिस की गिरफ्त में हैं. 5 दिसंबर के दिन लड़की को जलाने के आरोप में पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया था. इन लोगों में ये दोनों भी शामिल थे.