रेप पीड़िता के घर के बाहर चिपकाया पोस्टर, लिखा- कोर्ट में गवाही दी तो भुगतना होगा उन्नाव कांड जैसा अंजाम

0

Hits: 172

बागपत. बागपत (Baghpat) की एक रेप पीड़िता (Rape Victim) को कोर्ट में गवाही देने पर उन्नाव कांड जैसा अंजाम भुगतने की धमकी मिली है. जिसके बाद पीड़िता ने सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) से सुरक्षा की गुहार लगाई है. दरअसल, रेप मामले में पीड़िता की कोर्ट में गवाही से पहले धमकी भरे गुमनाम पोस्टर उसके घर पर चिपकाया गया है, जिसमें लिखा गया है कि “अगर उसने गवाही दी तो अंजाम उन्नाव कांड से भी भयंकर होगा.” हालांकि मामला सामने आने के बाद पुलिस ने बाद में रेप के आरोपी को एक बार फिर गिरफ्तार कर लिया है, वह पिछले कुछ दिनों से जमानत पर जेल से बाहर था.

एक साल पहले हुआ था रेप
दरअसल, मामला कोतवाली बड़ौत के एक गांव का है, जहां की रहने वाली एक युवती दिल्ली के मुख़र्जी नगर इलाके में कोचिंग करती थी. युवती का आरोप है कि करीब एक साल पूर्व युवती के साथ गांव के ही सोहरन नामक युवक बहाने से उसे दोस्त के रूम पर ले गया. वहां पर नशीला पेय पिला कर उसके साथ बलात्कार किया गया, साथ ही अश्लील वीडियो भी बनाया गया. बाद में वीडियो के नाम पर ब्लैकमेल कर युवक ने कई बार उसके साथ रेप किया. जिसके बाद युवक के खिलाफ दिल्ली के मुखर्जीनगर इलाके में मामला दर्ज करवाया गया.

13 दिसंबर को होनी है गवाही

इस मामले में 13 दिसंबर को दिल्ली की रोहणी कोर्ट में युवती की गवाही होनी है.लेकिन इस गवाही से पहले ही पीड़िता और उसका परिवार दहशत में है. क्योंकि किसी ने उनके मकान के दरवाजे पर एक पोस्टर चस्पा किया है. जिस पर लिखा है कि “अगर 13 दिसंबर को कोर्ट में गवाही दी तो अंजाम बुरा होगा वो अंजाम उन्नाव कांड से भी बुरा होगा”. जिसके बाद से पूरा परिवार दहशत में है. पीड़िता ने सीएम योगी से सुरक्षा की मांग की है और कहा है कि उसके परिवार की सुरक्षा की जाए. परिजनों के मुताबिक ये धमकी भरा पोस्टर किसने चस्पा किया है, उन्हें नहीं पता. लेकिन आरोपी पक्ष भी कई बार उन्हें जान से मारने की धमकी दे चुके है. जिस कारण इस धमकी के बाद से अब पूरा परिवार डरा हुआ है और सुरक्षा की गुहार कर रहा है.

उधर सूचना मिलते ही पुलिस भी पीड़िता के घर पहुंची. पुलिस के अनुसार रेप का मामला दिल्ली में दर्ज है. 13 दिसंबर को युवती की गवाही होनी है लेकिन एक धमकी का पोस्टर जो चस्पा मिला है, वह गंभीर है. जिसके बाद पीड़िता के घर सुरक्षा तैनात की जा रही है.