आयुष्मान कार्ड से मुफ्त में नहीं होगी हार्ट सर्जरी, IGMC ने दिया 3 लाख का एस्टिमेट

0

Hits: 19

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के गृह जिला मंडी के सुंदरनगर विधानसभा क्षेत्र की रहने वाली नर्वदा देवी पत्नी लाभ सिंह निवासी देरडू (कपाही) का परिवार पैसे की कमी के चलते उनकी हार्ट की सर्जरी नहीं करवा पा रहा है. सरकारी संस्थान आईजीएमसी (शिमला) के कार्डियोलॉजी विभाग ने जांच के बाद नर्वदा के इलाज के लिए तीन लाख रुपये का एस्टिमेट तैयार कर पैसे का इंतजाम करने को कहा है.

हालांकि, मरीज के पास केंद्र सरकार की स्वास्थ्य स्कीम प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आयुष्मान कार्ड भी है. लेकिन आईजीएमसी के अनुसार, इसके अंतर्गत हार्ट सर्जरी का कोई लाभ नहीं मिल सकता.

पति करते हैं प्राइवेट नौकरी
नर्वदा के पति लाभ सिंह ने बताया कि वह प्राइवेट संस्थान में छोटी सी नौकरी करता है, जिससे घर की रोटी मुश्किल से चलती है. आयुष्मान कार्ड है, लेकिन आईजीएमसी में इससे मुफ़्त इलाज का कोई प्रावधान नहीं है.

विधायक से भी मिले, लेकिन…
लाभ सिंह का कहना है कि वह स्थानीय विधायक राकेश जम्वाल से भी इस सन्दर्भ में मिल चुके हैं और मुख्यमंत्री से भी मदद की गुहार लगाई है, लेकिन उनकी पत्नी की तबीयत दिन प्रतिदिन बिगड़ रही है. इसके चलते वह लोगों से मदद की भीख मांगने को मजबूर हैं. लाभ सिंह ने आम जन और सामाजिक संस्थाओं से अपील की है कि फौरी इलाज के लिए उनकी मदद करें.