अस्पताल में मौत से जंग लड़ रही थी दो साल की बेटी, फिर भी इंग्लैंड के खिलाफ मैदान पर बल्ला लेकर उतरा ये पाकिस्तानी क्रिकेटर

0

Hits: 6

पाकिस्तानी बल्लेबाज आसिफ अली के लिए भारतीय समयनुसार सोमवार तड़के एक बुरी खबर आई। अमेरिका के एक अस्पताल में आसिफ की दो साल की बेटी नूर फतिमा का कैंसर का इलाज चल रहा था, वह कैंसर के चौथे स्टेज पर थी। सोमवार को दो साल की इस नन्ही सी जान को इस बीमारी की वजह से दुनिया छोड़कर जाना पड़ा। इस मौत की खबर पाकिस्तान सुपर लीग में अली की टीम इस्लामाबाद यूनाइटेड ने अपने ऑफिश्यली ट्विटर अकाउंट पर दी।

आसिफ ने पिछले महीने ट्वीट कर अपने प्रशंसकों से उसके लिए दुआ करने की अपील की थी। जब आसिफ की दो साल की बेटी अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही थी, तब आसिफ पाकिस्तान के लिए मैच खेल रहे थे। दरअसल, रविवार को पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच वनडे सीरीज का आखिरी मुकाबला खेला जा रहा था, इस दौरान आसिफ भी पाकिस्तान की प्लेइंग इलेवन के हिस्सा थे।

हालांकि, इस मैच में आसिफ कुछ खास नहीं कर सकें और 17 गेंदों पर 22 रन बनाकर आउट हो गए। इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम मुकाबले में पाकिस्तान को 54 रनों से हार का सामना करना पड़ा। आसिफ अली बेटी की मौत के बाद पाकिस्तान वापस लौटेंगे। आसिफ अली शुरुआती वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन उन्हें रिजर्व कैटेगरी में रखा गया है, इससे साफ है कि वह बाद के मैचों में वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा बन सकते हैं।

इस सीरीज में पाकिस्तान की टीम एक भी मैच जीतने में कामयाब नहीं रही। कप्तान सरफराज अहमद ने टीम के लिए 97 रनों की पारी खेली। 80 गेंदों में 97 रन बनाने वाले सरफराज को जोस बटलर ने रन आउट कर पाक की जीत की उम्मीदों को खत्म कर दिया। बारिश के कारण पहला वनडे मैच नहीं हो पाया था और इसके बाद खेले गए चारों मैचों में इंग्लैंड ने जीत हासिल की।