दिल्ली में ठंड का प्रचंड कैसे सहेंगे हम

83

Hits: 4

भारत की राजधानी दिल्ली जिसकी जनसंख्या भारत की दूसरा सबसे बड़ी है। यहाँ की जनसंख्या लगभग 1.9 करोड़ है। भारत की राजधानी दिल्ली में पिछले सालों से इस साल कम तापमान दर्ज किया जा रहा हैं और पारा गिरकर 3.7 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. शहर में हल्की धुंध छाये रहने से दृश्यता थोड़ी कम हो गई हैं. मौसम विभाग के आंकड़े के मुताबिक, पिछले 12 साल में दिसंबर महीने में दूसरा न्यूनतम तापमान 29 दिसंबर 2007 को दर्ज किया गया था, जिस दिन तापमान 3.9 डिग्री सेल्सियस रहा था. मौसम विभाग के डेटा के मुताबिक, दिल्ली में दिसंबर महीने में अब तक का न्यूनतम तापमान का रिकॉर्ड 26 दिसंबर 1945 का है, जिस दिन न्यूनतम तापमान 1.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.

वही दिल्ली की वायु गुणवत्ता लगातार गंभीर श्रेणी में बनी हुई है. हवा की गति और अन्य मौसमी कारक प्रदूषक तत्वों के बिखराव के लिए ‘बेहद प्रतिकूल’ रहे. दिल्ली दिवाली के समय से अपने सर्वोच्च प्रदूषण स्तर का सामना कर रही है. लोगों को घर के बाहर कम से कम निकलने और निजी वाहनों के इस्तेमाल से बचने की सलाह दी है. मौसम विभाग ने कहा कि हवा की धीमी गति और कम तापमान अगले कई दिनों तक बने रहने की संभावना है जिससे प्रदूषक तत्वों का बिखराव अच्छे से नहीं होगा और वायु की गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में अगले कई दिनों तक बरकरार रह सकती है.

सर्दियों के इन मौसम में जिन लोगों को साइनस, एलर्जी, ब्रोंकाइटिस, अस्थमा जैसे रोग होते हैं, थोड़ी लापरवाही हुई नहीं कि सर्दी-जुकाम, कफ आदि की समस्याएं खड़ी हो जाती हैं। उन्हें सावधानीपूर्वक खाने-पीने में परहेज बरतना चाहिए। उन्हें कफवर्धक चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ऐसे ही कही और सावधानियों पर अमल कर आप सर्दियों की तकलीफों से खुद को बचा सकते हैं। चलो बताते है कैसे:-

ठंड के मौसम में क्या करें

1. इस मौसम में कई लेयर में पहनें कपड़े इससे आपकी बॉडी के ऊपर कपड़ों की कई लेयर बन जाएगी। इससे ठंड ज्यादा रुकेगी।
2. सिर, पैरों और कानों को हमेशा ढक कर रखे क्यूंकि ठंड का सबसे ज्यादा असर इन जगहों से ही पड़ता हैं। और हम लोग सर्दी का शिकार बन जाते हैं.
3. अगर आप सुबह सैर के लिए निकलते हैं तो आधा-एक घंटा देर से जाना शुरू करें, ताकि सवेरे की ठंड से बचाव हो सके। हल्की-हल्की गुनगुनी धूप में जाएं तो भी कोई हर्ज नहीं है।
4. चेहरे को मास्क से ढककर रखें इससे प्रदूषित हवा शरीर मे जाने से रोकने में मदद मिलती है। इसके अलावा ऐसी जगह जाने या रहने से बचें जो ज्यादा भीड़भाड़ वाली हो या ज्यादा यातायात का दबाव हो।
5. ताजा फल सब्जियों का सेवन करें. गर्म तासीर वाली चीजों का इस्तेमाल बढ़ा दें। जैसे गर्म मसाले, अजवाइन, लौंग, जीरा, मैथीदाना, बड़ी इलायची आदि का काढ़ा बनाकर भी पिया। जा सकता है।

ठंड के मौसम में क्या न करें

1. अगर आपके बाल गीले हैं तो उन्हें सुखाने के बाद ही टू-व्हीलर पर निकलें
2. ठंड में ठंडा व बासा भोजन न करें।
3. बच्चों और बूढ़ों की सेहत को लेकर लापरवाही न बरते। कुछ बढ़ी दुर्घटना होने से पहले ही डॉक्टर के पास जाएँ।

इसलिए ऊपर लिखी गई इन कही बातों पर प्रकाश डाले और दिल्ली की सरदियों का आनंद ले!
इसी से साथ हम आपसे अलविदा लेते है. धन्यवाद
आप सभी को नए साल की बहुत बहुत शुभकामनाएं।